50+ Best Intezaar Shayari in Hindi

Best Intezaar Shayari in Hindi – Shayari Portal

We face so many concerns in our life & every time we tackle that problem easily in our life. But one thing everyone hates that is waiting. Nobody wants to wait for someone he loves. Every time she went far from their eyes. He doesn’t tackle the pain of separation from them & then they start reading the Intezaar Shayari.

हर मुलाकात को याद हम करते हैं,
कभी चाहत कभी जुदाई कि आह भरते हैं,
यूँ तो रोज तुमसे सपनो में बात करते हैं पर,
फिर से अगली मुलाकात का इंतज़ार करते हैं |
Har mulakat ko yaad hum karte hain
Kabhi chahat kabhi judai ki aah bharte hain
Yun to roj tumse sapno mein baat karte hain par
Fir se agli mulakat ka intzaar karte hain.

कोई है जिसका इस दिल को इंतज़ार
ख्यालों में बस उसी का ख्याल है,
खुशियाँ मैं साडी उस पर लुटा दूँ,
कब आएगा वो जिसका इस दिल को इंतज़ार है |
Koi hai jiska is dil ko intjaar hai
Khayalon main bas usi ka khayal hai
Khushiyaan main saari us par luta dun
Chahat mai uski mai khud ko mita dun
Kab ayega wo jiska is dil ko intjaar hain.

कब उनके लबों से इज़हार होगा,
दिल के किसी कोने में हमारे लिए भी प्यार होगा,
गुजार रहे हैं अब तो ये राते बस इसी सोच में,
कि शायद उनको भी हमारा इंतज़ार होगा |
Kab Unke Labon Se Izhaar Hoga
Dil Ke Kisi Kone Main Hamare Liye Bhi Pyar Hoga
Gujar Rahe Hain Ab To Ye Raate Bas Isi Soch Main
Ki Shayad Unko Bhi Hamara Intejaar Hoga.

 

न जाने कब वो हसीं रात होगी
जब उनकी निगाहे हमारी निगाहों के साथ होगी
बैठे हैं हम उस रात के इंतज़ार में
जब उनके होंठो कि सुर्खियाँ हमारे होठों के साथ होगी
Na Jane Kab Wo Haseen Raat Hogi
Jab Unki Nigahe Humari Nigaho Ke Saath Hogi
Baithe Hai Hum Uss Raat Ke Intezaar Main
Jab Unke Hontho Ki Surkhiya

Hamare Honthon Ke Saath Hogi.

 

चले भी आओ कि हम तुमसे प्यार करते हैं,
ये वो गुनाह है जो हम बार-बार करते हैं,
लोग मौत तक ही दिलदार की राह तकते हैं
हम हैं की कब्र में भी तेरा इंतज़ार करते हैं.
Chale bhi aao ki hum tumse pyar karte hain
Ye wo gunah hai jo hum baar-baar karte hain
Log maut tak hi dildaar ki raah takte hain
Hum hai ki kabar mai bhi tera intezaar karte hain.

 

वही उम्मीद वही इंतज़ार तेरा करते हैं,
उसी इश्क से उसी चाहत से
मुझे आप फिर मिल जाओ
कि मन बहुत उदास है |
Wahi Ummid Wahi Intejaar Tera Karte Hain
Usi Ishq Se Usi Chahat Se
Mujhe Aaj Phir Se Mil Jao
Ki Mann Bahut Dino Se Udaas Hain.

 


जान से भी जयादा उन्हें प्यार किया करते थे,
याद उन्हें दिन रात किया करते थे,
अब उन राहों से गुज़ारा नहीं जाता
जहाँ बैठकर उनका इंतज़ार किया करते थे |
Jaan se bhi zyaada unhe pyaar kiya karte the
Yaad unhe din raat kiya karte the
Ab un raahon se guzra nahi jaata
Jahan baith kar unka intezaar kiya karte the.

 


तनहाइयों में उनको ही याद करते हैं
वो सलामत रहे यही फ़रियाद करते हैं
हम उनकी ही मुहब्बत का इंतज़ार करते हैं
उनको क्या पता हम उनसे कितना प्यार करते हैं |
Tanhaion me unko hi yaad karte hain
Wo salamat rahein yahi fariyad karte hain
Hum unke hi mohabbat ka intezaar karte hain
Unko kya pata hum unse kitna pyaar karte hain.

उसेक इंतज़ार के मारे हैं हम,
बस उसकी यादों के सहारे हैं हम,
दुनिया जीत के क्या करना है अब,
जिसे दुनिया से जीता था,
आज उसी से हारे हैं|
Uske intezar ke mare hain hum
Bas uski yaadon ke sahare hain hum
Duniya jeet ke kya karna hai ab
Jise duniya se jeetna tha
Aaj usi se haare hain |

 

रात दिन रुलाता हैं इंतज़ार तेरा
कट गयी उम्र कम न हुआ प्यार तेरा
अब तो आ जाओ के बहुत उदास है दिल
साँसों की तरह लाज़मी है दीदार तेरा |
Raat Din rulata hai Intezaar tera
Kat gai umar kam na hua Pyaar tera
Ab to Aa jao ke bahut udas ha Dil
Sansoon ki tarha lazmi hai Didar tera.

Intezaar Shaari is very good article to read

Intezaar Shayari is very good to read when you are willing to meet your lover. These Intezaar Shayari makes you’re waiting more lovable you feel the love towards your partner & this Intezaar Shayari makes a strong bond between you and your partner. You can tell your partner these Intezaar Shayari to impress your partner. Read it one intezaar Shayari in hindi & intezaar Status.

 


घाव इतना गहरा है बयां क्या करें
हम खुद निशाना बन गए अब वार क्या करे
जान निकल गयी मगर खुली रही आँखे
अब इससे ज्यादा उनका इंतज़ार क्या करें |
Ghaw Itna Gehra Hai Bayan Kya Karein
Hum Khud Nishana Ban Gye Ab War Kya Karein
Jaan Nikal Gayi Magar Khuli Rahi Aankhe
Ab Isse Jyada Unka Intejar Kya Kare.

इंतज़ार है हमे आपके आने का,
वो नज़रे मिला के नज़रें चुराने का
मत पूछ ए सनम दिल का आलम क्या है
इंतज़ार है बस तुझमे सिमट जाने का |
Intzaar Hai Hame Apke Ane Ka
Wo Nazre Mila Ke Nazre Churane Ka
Mat Puch E-sanam Dil Ka Aalam Kya Hai
Intzara Hai Bas tujhme Simat Jane Ka.

 


!आप दूर गए इंतज़ार किया,
|आप पास आये फील किया,
आप याद आये मिस किया,
फिर आपकी फोटो को किस किया |
Aap DOOR gaye INTZAR kiya
Aap PAAS aaye FEEL kiya
| Aap RUTH gaye MANA liya
Aap YAAD aaye MISS kiya
Fir apki photo ko KISS kiya.

 


आज मौसम को क्या हो गया है,
दोस्त मेरा न जाने कहाँ खो गया है,
हम तो उनके msg का इंतज़ार करती रह गए,
पर लगता है कोई उनके msg का हक़दार हो गए |
Aj mausam ko kya ho gaya
Dost mera na jane kahan kho gaya
Hum to unke msg ka intzar krte reh gaye
Par lgta h koi or unke msg ka haqdar ho gaya.

 


क्यों मेरे लिए कोई इंतज़ार करेगा,
अपनी ज़िन्दगी मेरे लिए बेकार करेगा,
मैं क्या हु मेरी हस्ती ही क्या है,
क्या देखकर हमसे कोई प्यार करेगा |
Kyu mere liye koi Intzar karega
Apni Zindgi mere liye bekrar karega.
Mai kya hu Meri Hasti hi kya hai
Kya dekhkar humse koi Pyar karega.

 


ज़िन्दगी हसीं है ज़िन्दगी से प्यार करो,
है रात तोह सुबह का इंतज़ार करो,
वो पल भी आएगा जिसका इंतज़ार कई आपको,
रब पर भरोसा और वक़्त पर ऐतबार करो..
Zindagi Hasin Hai Zindgi Se Pyar Karo
Hai Raat toh Subah ka intzar karo
Wo Pal Bhi Ayega Jiska Intzar Hai Apko
Rab par Bharosa or waqt Pe Aitbar karo…

दिल में जो आया वो लिख दिया,
कभी मिलन कभी जुदाई लिख दिया,
तेरी जुदाई ही है अब मुकद्दर मेरा,
लो हमने अपने ज़िन्दगी का नाम इंतज़ार रख दिया |
Dil Me Jo Aaya Wo Likh Diya
Kabhi Milan Kabhi Judai Likh Diya
Teri Judai Hi He Ab Muqaddar Mera
Lo Humne Apni Zindgi Ka Naam Intzaar Likh Diya.

 


क्या मांगू खुदा से तुम्हे पाने के बाद,
किसका करू इंतज़ार तेरे आने के बाद,
क्यों दोस्तों पे जान तक लुटा देते है लोग,
मुझे मालूम हुआ तुम्हे दोस्त बनाने के बाद |
Kya mangu khuda se tumhe pane k bad
Kiska karu intzar tere aane k bad
Kyu dosto pe jaan tak luta dete h log
Mujhe malum hua tumhe dost bnane k baad.

 


तड़प के देख किसी कि चाहत में
तो पता चले इंतज़ार क्या होता है,
यूँ मिल जाये अगर कोई भी बिना तडपे
तो कैसे पता चले प्यार क्या होता है |
Tadap Ke Dekh Kisi Ki Chahat Me
To Pata Chale Intzaar Kya Hota Hai
Yu Mil Jaaye Agar Koi Bina Tadap Ke
To Kaise Pata Chale Pyar Kya Hota Hai.

 

वो प्यार करती है मुझसे पर इंतजार नहीं करती,
मरती है मुझपर पर इनकार नहीं करती,
मेरी पलकें उसके इंतजार में हैं,
और वो है जो मुझे याद नहीं करती |
Wo Pyar Karti He Mujse Par Izhaar Nhi Karti
Marti He Mujhpe Pr Ikrar Nhi Karti
Meri Palke Uske iNtzar Me Hai
Or Wo He jo Mujhe Yad Nhi Karti.

 


सूखे पत्ते से प्यार कर लेंगे,
हम तुम पे ऐतबार कर लेंगे,
तुम एक बार कह दो हमें तुम से प्यार है
हम ज़िन्दगी भर इंतजार कर लेंगे |
Sukhe patte se pyaar kar lenge
Hum tum pe aitbar kar lenge
Tum ek baar keh do hame tum se pyaar hai
Hum zindagi bhar intzar kar lenge.

प्यार वो नहीं जिसमे जीत और हार हो
|प्यार कोई चीज़ नहीं जो हर वक़्त तैयार हो
प्यार तो वो है जिसमे किसी के आने की उम्मीद न हो,
पर फिर भी इंतजार हो |
Pyar vo nahi jisme jeet aur haar ho
| Pyar koi cheez nahi jo har waqt taiyar ho
Pyar to wo hai jisme kisi ke aane ki umeed na ho
Par fir bhi intzaar ho.

Best Collection of Intezaar Shayari

We read a variety of Shayaries on other websites or our website as well but in this blog, we are sharing the best Intezaar Shayari hindi which makes your mood lovable & gives you some lovely gesture. On our website, we are sharing Shayari after doing deep research on the topic then after we share the Shayari & waiting shayari on our website.

 


दिल ने कहा कोई याद कर रहा है,
मैने सोचा कि ये दिल मजाक कर रहा है,
फिर मुझे आई हिचकी तो ख्याल आया कि,
मेरा दोस्त मेरे msg का इंतजार कर रहा है |
Dil Ne Kaha Koi Yaad Kar raha hai
Maine Socha Ki Ye DiL Mazak Kar raha hai
Fir Mujhe Aayi Hichki To Khayal aaya Ki
Mera dost Mere Msg Ka INTZAR kar Raha hai.

 


उस नज़र कि तरफ मत देखो
जो आपको देखने से इंकार करती है,
दुनिया की भीड़ में उस नज़र को देखो,
जो सिर्फ आप का इंतजार करती है |
Us Nazar Ki Taraf Mat Dekh
Jo Aap Ko Dekhne Se Inkar Karti Hai
Duniya Ki Bheed Mein Us Nazar Ko Dekho
Jo Sirf Aap Ka Intzar Karti Hai.

तकदीर इम्तिहान ले रही है ज़रा इंतज़ार करना
कुछ हम पे कुछ खुद पे ऐतबार करना,
आपको ज़रूर मिलेगी मंजिल,
बस अपनी मुस्कराहट हमेशा बरकरार रहना |
Takdir imtihan le rahi hai zara intzar karna
Kuch hum pe kuch khud pe aitbar karna
Aapko zarur milegi manzil
Bas apni muskarahat hamesha barkarar rakhna.

हो चुकी रात अब सो भी जाओ
जो है दिल के करीब उसके ख्यालों में खो जाओ,
कर रहा होगा कोई इंतज़ार आपका
ख्वाबों में ही सही उनसे मिल तो आओ |
Ho chuki raat ab so bhi jao
Jo hai dil ke karib uske khyalo me kho bhi jao
Kar raha hoga koi intzar apka
Khwabon mai hi sahi unse mil to aao.

 


अजनबी रहना पर किसी का इंतजार मत करना,
किसी के प्यार से खुदको बेक़रार मत करना,
अच्छा साथी मिल जाये तो थाम लेना हाथ,
पर दिखावे के लिए किसी से प्यार मत करना |
Ajnabi rehna par kisika intezaar mat karna
Kisi ke pyaar se khudko bekaraar mat karna
Acha saathi mil jaaye to thaam lena haath
Par dikhawe ke liye kisi se pyaar mat karna..!

हालात कह रहे हैं,
के अब मुलाकात नहीं होगी…
उम्मीद कह रही है..
ज़रा इंतजार कर |
Haalaat Kah Rahe Hai
Ke Ab Mulaqaat Nahi Hogii…..
Ummeed Keh Rahi Haii…
Zara Intezaaar Karr…..

 


छोड़ दिया हमने उसका
इंतजार करना हमेशा के लिए,
जिसे मोहब्बत की क़दर नहीं
उसको दुआओं में क्या मांगना |
Chorr Diya hamne uska
intezaar karna hamesha k liye
Jise Mohabbat ki Qadar nahi
usko DUAO mai kya mangna.

 


मेरी मोहब्बत पे ऐतबार तो किया होता,
ए जान किसी और के होने से पहले,
मेरा इंतजार तो किया होता |
Meri Mohabbat pe AITBAR to KIYA hota
ae JAAN kisi AUR ke HONE se pehle
MERA intezaar to kiya hota

नहीं है किस्मत में वो
फिर भी उससे मोहब्बत करता हूँ,
बड़ा मज़ा आता है अपने,
दिल को सजा देने में |
NAhi hai kiSmat mEin w0h
phiR bhi uSse m0hbbat kaRta hu…
Bada mAza Ata hai aPne
diL ko sAza dEne mEin..

 


आँखों को इंतज़ार का देकर हुनर चला गया ,
चाहा था इक शख्स को जाने किधर चला गया |
Aankhon Ko Intezaar Ka De Kar Hunar Chala Gaya
Chaha Tha Ik Shakhs Ko Jane Kidhr Chala Gaya

 


उसकी मोहब्बत पे कोई हक नहीं है मेरा,
फिर भी दिल करता है उसका इंतज़ार करू |
uski mhbt pe koi haq nhi h mera
phir bhi dil karta h uska intezar karu…

 


हमे सूरत से क्या मतलब
हम तो शरीर पर मरते हैं ,
उनसे कहना तुम्हारा हुस्न
ढल जाये तो भी लौट आना |
Hame soorat se kya matlab
hum to seerat pe marte hai
Unse kahna tumhara husn
dhal jaye to bhi laut aana..!

 


है मुलाकात का इंतज़ार पर उनपे भी ऐत्बार है,
देखें पहले वो आते हैं या फिर मौत |
Hai maut ka intezaar par unpe bhi aitbaar hai
dekhein pehele woh aate hain ya phir maut!

मरने के बाद भी मेरी आँखे खुली रही,
आदत ही पड़ गयी थी इन्हें इंतजार की |
Marne Ke Baad Bhi Meri Aankheh Khuli Rahi
Aadat Hi Parrh gayi Thi inne Intehzaar Ki

क्यूं मेरे लिए कोई इंतज़ार करेगा,
अपनी ज़िन्दगी मेरे लिए बेकरार करेगा,
मैं क्या हु मेरी हस्ती ही क्या है,
क्या देखकर हमसे कोई प्यार करेगा |
Kyu Mere Liye Koi Intzar Karega
Apni Zindgi Mere Liye Bekrar Karega.
Me Kya Hu Meri Hasti Hi Kya Hai
Kya Dekhkar Humse Koi Pyar Karega !!

In love then read intezaar shayari

Love is the most beautiful feeling in the world & waiting for your love is the worst feeling in the world. No one from us wants to sacrifice our love. That’s why we will wait for our lover most of the time. We cannot see anything apart from our lover & we also read some Intezaar Shayari or Shayari on intezaar Unka Intezaar Karte-Karte.

 


फिर मुकद्दर की लकीरों में लिख दिया इंतज़ार,
फिर वही रात का आलम, और मैं तनहा तनहा |
Phir Muqaddar Ki Lakeeron Main Likh Dia Intezar
Phir Wohi Raat Ka Aalam Aur Main Tanha Tanha…

 


उनके इंतज़ार के मारे हैं हम
बस उसकी यादों के सहारे है हम,
दुनिया जीत के करना क्या है अब,
जिसे दुनिया से जीतना था उसी से हारे हैं हम |
Uske intzaar ke maare hai hum…
Bas uski yaadon ke sahare hai hum…
Duniya jeet k karna kya hai ab…
Jise duniya se jeetna tha aaj usi se haare hai hum

 


पल भर का प्यार और बरसों का इंतज़ार
जैसे कोई अपना ही अपने घर को लूट रहा है |
Pal bhar ka pyaar aur barson ka intezaar
jaise koi apna hi apne ghar ko loot raha hai…

 


जीने कि ख्वाहिश में हर रोज मरते हैं,
वो आये न ए हम इंतज़ार करते हैं,
झुटा ही सही मेरे यार का वादा,
हम सच मानकर ऐतबार करते हैं |hiii
Jeene Ki Khwaish Me Har Roz Marte Hain
Wo Aaye Na Aaye Hum Intezaar Karte Hain
Jutha Hi Sahi Mere Yaar Ka Vaada
Hum Sach Maankar Aitbar Karte Hain…


उसने कहा अब किसका इंतज़ार है,
मैंने कहा अब भी मोहब्बत बाकि है,
उसने कहा तू तो कब का गुज़र चूका है ‘मसरूर’
मैंने कहा अब भी मेरा हौसला बाकि है |
Usne Kaha Ab Kiska Intezaar Hai
Maine Kaha Ab Bhi Mohabbat Baaki Hai
Usne Kaha Tu Toh Kab Ka Guzar Chuka Hai ‘Masroor’
Maine Kaha Ab Bhi Mera Hausla Baaki Hai…

 


उनका वादा है कि वो लौट के आयेंगे,
इसी उम्मीद पर हम जिए जायेंगे,
ये इंतज़ार भी उनकी ही तरह प्यारा है,
कर रहे थे, कर रहे है, और किये जायेंगे |
Unka vaada hai ki wo laut k aayenge
isi ummid par hum jiye jayenge
ye intejar bhi unki hi tarah pyara hai
kar rhe the kar rhe hain aur kiye jayenge…

 


कभी तो हमे भी याद आया करो,
दो पल मेरे लिए भी बर्बाद करोगे,
इंतज़ार रहेगा हमे भी क़यामत का,
हम भी तो देखे तुम आखिर
कब तक हमे प्यार न करोगे |
Kabhi to hume bhi yaad karoge
Do pal mere liye bhi barbaad karoge
Intezaar rahega hume bhi Qayamat tak
hum bhi to dekhe tu akhir
kab tak hume pyaar na karoge…

 


उनकी अपनी मर्ज़ी हो
तो वो हमसे बात करते हैं
और हमारा पागलपन देखो,
कि सारा दिन उनकी मर्ज़ी का इंतज़ार करते हैं |
Unki Apni Marzi Ho
To Wo Humse Baat Karte Hain…
Aur Hamara Pagalpan Dekho
Ki Sara Din Unki Marzi Ka Intezaar Karte Hain

 


बहुत हो चुका इंतजार उनका,
अब और ज़ख़्म सहे जाते नहीं
क्या बयां करें उनके सितम को
दर्द उनके कहे जाते नहीं |
Bahut Ho Chuka Intezaar Unka
Ab Aur Zakham Sahe Jaate Nahi
Kya Bayaan Karein Unke Sitam Ko
Dard Unke Kahe Jate Nahi…

 


अब कैसे कहू कि तुझसे प्यार है कितना,
तू क्या जाने बेदर्दी, तेरा इंतज़ार है कितना |
ab kaise kahu ki tujhse pyar hai kitna
tu kya jaane bedardi tera intezaar hai kitna

 


तुम देखना ये इंतज़ार रंग लायेगा ज़रूर,
एक रोज़ आँगन में मौसम ए बाहर आएगा ज़रूर |
उसी दिन के इंतज़ार में काँटों पे चल रहा हु
घर में नहीं सजन आँगन में पल रहा हूँ |
tum dekhna yeh intezaar rang layega zaroor
ek roz aagan me mausam ae bahar aayega zaroor
usi din ke intezaar me kaanto pe chal raha hoo
ghar me nahi sajan angaro me pal raha hoo

Waiting for true love hold on read some best intezaar shayari

Everybody is searching true love in their life but can’t wait to find true love in their life. Waiting or patience is key to anything. You have to be patient to find true love in your life. In waiting for your true love read some best Intezaar Shayari & fell the gesture of love.

 

तेरे इंतज़ार के मारे हैं हम
सिर्फ तेरी ही यादो के सहारे है हम
तुझे चाहा था जीतना इस दुनिया से,
और आज तेरे ही हाथों हारे हैं हम |
Tere intezaar ke maare hai hum
Sirf teri he yaado ke sahare hai hum
Tujhe chaha tha jeetna is duniya se
Or aaj tere he haatho haare hai hum

Tags:

intezaar Shayari, intezaar shayari in hindi, intezaar status, waiting Shayari, intezaar shayari hindi, shayari on intezar, intezar shayari in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top
0 Shares
Tweet
Share
Share
Pin